Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Story in Hindi to read - Story in Hindi love : Arrange Marriage Part - 137

 

Story in Hindi to read - Story in Hindi love : Arrange Marriage Part - 137


नीलू और कार्तिक ने खाने के लिए कुछ स्नेक्स बगैरा खरीद कर बापस आने लगे , वही शिवानी अकेली बैठी अपने फ़ोन में कुछ देखती रही |

राजेश जी चुपचाप अपनी शीट पर आ कर बैठ गए , शीला ने पूछा " क्या हुआ जी , कार्तिक ही है न "

राजेश " हाँ कार्तिक और नीलू दोनों बहार खाने के लिए कुछ ले रहे है "

शीला जी ने कहा " खाने से याद आया , भूख तो मुझे भी लग रही है "

राजेश जी ने मुस्कराते हुए कहा " तो कॉल करदू कार्तिक से एक मील एक्स्ट्रा खरीद लेगा "

शीला जे ने कुटिल मुस्कान के साथ कहा " अगर हिम्मत है तो कह दो , मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता "

राजेश जी ने अपना मोबाइल निकला और कार्तिक का नंबर निकल के बोले " लगा रहा हूँ , फिर नहीं कहना "

शीला जी ने कहा " हाँ कह दो , मुझे कोई दिक्कत नहीं है "

राजेश जी ने पूछा " अगर उसने पूछा और कौन साथ है तुम्हारे तो मैं क्या बताऊ उसे "

शीला जी ने कहा " कह देना तुम्हारी माँ है "

राजेश ' क्या यार तुम भी क्या स्यापा करा रही हो "

शीला " देखा फट गयी न तुम्हारी , मुझे पता था तुम अपने बेटे के सामने जा ही नहीं सकते हो "

राजेश " यार बेटा जवान है इसलिए उसका भी लिहाज करना पड़ता है "

शीला " हाँ तो ये बात पहले ही कह देते , फिर इतना लम्बा क्यों खींच रहे हो "

राजेश जी " ओह्हो ओके बाबा , अब मूवी शुरू होने बाली है उसपे ध्यान दे लो "

शीला "यार मुझे भूख लग रही है , कुछ करो न "

राजेश जी ने कहा ठीक है , मैं कुछ लेके आता हूँ"

राजेश जी खाने के लिए कुछ खरीदने बहार कैंटीन में चले जाते है |


उधर से कार्तिक और नीलू ख़ुशी ख़ुशी बापस आ कर अपनी शीट्स पर बैठ गए , अब नीलू कार्तिक से नाराज नहीं थी , वो मान गयी थी , उन्होंने शिवानी को पॉपकॉर्न , कोल्डड्रिंक्स , और कुछ चॉकलेट्स देते हुए कहा " अरे शिवानी तुम बाहर क्यों नहीं आयी , तुम्हे भी आना चाहिए था न |

शिवानी ने स्माइल करते हुए कहा " अरे नहीं तुम दोनों गए तो थे , मैं बस यही फ़ोन में कुछ देख रही थी "

कार्तिक " अरे तो फ़ोन कहाँ भागा जा रहा था , बाद में देख लेती "



शिवानी - नहीं तुम दोनों के बीच में मेरा क्या काम था ,

कार्तिक शिवानी की बात सुन कर मन ही मन सोचने लगा , काश तुम ये बात घर से आते टाइम सोच लेती तो शायद , हम मजे कर रहे होते |

नीलू - चल पगली , कैसी बात कर रही है , हम बाहर ही तो गए थे , इसमें बीच बाली कोनसी बात है |

शिवानी ने बात खतम करते हुए कहा " देखो मूवी शुरू हो गयी "


स्नैक्स ला कर शीला जी के हाथ में देते हुए राजेश जी बोले " मुझे तो टेंशन हो रही है , मूवी देख कर बाहर जाते टाइम कही कार्तिक ने देख लिया तो "

शीला जी मुँह में बाईट लेते हुए बोली " तो अभी निकल चले "

" अरे यार अभी तो मूवी पूरी पड़ी है , अभी कैसे जा सकते है " राजेश जी ने शीला को गुदगुदाते हुए कहा 

" तो फिर बिना टेंशन के मूवी देखो और मजे करो , जो होगा सो देखा जायेगा " शीला जी रोमांटिक सी अबाज में बोली |


राजेश जी बोले " लग रहा है जानेमन आज तुम्हारी जवानी बाहर निकल कर आ रही है "

शीला जी धीरे से मादक आबाज में कहा " देख लो जी कही आप कमजोर न पड़ जाओ "

राजेश जी शीला जी की उत्तेजक बाते सुन कर ऊर्जाबान होते हुए बोले " वो तो रात को घर पर ही पता चलेगा "

शीला जी हसने लगी " हा हा , वो रोज ही पता चल जाता है , की तुम कितनी देर तक दहाड़ते हो "

राजेश जी बात काटते हुए सामने की और इशारा करते हुए बोले " अब फिल्म देख लो , अपनी फिल्म मैं बाद में दिखाऊगा |


मूवी ख़तम होने बाली थी , अब राजेश जी को टेंशन थी की अब बाहर कैसे जाया जाये | तो शीला जी ने कहा " क्यों टेंशन कर रहे हो , तुम्हारे पास दो रास्ते है "

राजेश जी " कोनसे कोनसे "

शीला जी " एक , या तो तुम अभी निकल जाओ , या फिर सभी लोगो के निकल जाने के बाद सबसे लास्ट में तुम यहाँ से जाना |"

राजेश जी ने कहा " यार तुम बाकई दिमागदार हो , ऐसा करते है दूसरा रास्ता चुन लेते है | जैसे ही वो लोग निकल जायेगे हम हम चुपके से निकल कर बाजू बाले डिस्को में घुस जायेगे |


शीला जी ने कहा " यार तुम एन्जॉय करने आये हो या फिर मुझे डराने"

राजेश जी " क्यों मैं क्यों डरा रहा हूँ तुम्हे "

शीला जी ने कहा " तो फिर यहाँ कही ऐसी खुली जगह पर चलिए जहाँ ये लोग न जाये , ये मूवी देखने के बाद जरूर ही डिस्को में जायेगे , वहां जा कर फिर से तुम रोने लग जाओगे |


राजेश " यार तुम आज मुझे एन्जॉय करने नहीं दोगी "

शीला जी कहा " एन्जॉय अब तुम घर पर ही करना , अभी यहाँ से चुपके से निकल लो "

राजेश जी चुपचाप शीला की बात मान गए और , और मूवी हाल खाली होने का इंतजार करने लगे |


कार्तिक नीलू और शिवानी अब वहां से जाने लगे , शिवानी अभी भी डिस्को जाने के लिए फाॅर्स कर रही थी , लेकिन नीलू अब कही पार्क बगैर में बैठ कर कार्तिक के साथ कुछ देर और टाइम स्पेंड करना चाह रही थी |

कार्तिक और नीलू एक दूसरे की और देखते हुए बोले " शिवानी , डिस्को में केबल टाइम ही बेस्ट हो जाना है , चलो कही बैठ कर थोड़ी देर बात करेंगे , यार फिर ऐसा करते है पास ही में रेस्टोरेंट है चलके कुछ खाना कहते है बात भी हो जाएगी ||

शिवानी अनमने ढंग से तैयार हो गयी ,,, और वे लोग जाने लगे ||




Post a Comment

0 Comments