Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Story in Hindi english : story in hindi to read - मैं लौट आयी हूँ - भाग 1


Story in Hindi english : story in hindi to read

मैं लौट आयी हूँ - भाग 1

Story in hidi love:-

देविका की चीख की आवाज इतनी तेज थी की बगल बाले कमरे में लेटे उसके भैया और भाभी की आंख खुल गयी , वो दोनों दौड़े दौड़े देविका के कमरे में आये ,


दरबाजा खोलने पर देखा , कमरे में मंद मंद नीले कलर की लाइट जल रही है , और देविका खुले हुए बटन की शर्ट से अपने बदन को कंपते हुए जबरजस्ती ढकने की कोशिश करती हुयी बिस्तर के एक कोने में बैठी है , उसके होठ लगातार कांप रहे थे |


सलोनी (देविका की भाभी ) ने देविका के पास जाने की कोशिश की तो देविका उससे डर के दूर जाते हुए चीखने लगी , चिल्लाने लगी "मुझे छोड़ दो , मैंने कुछ नहीं किया " 

इतने में देविका के भाई (अंकित ) ने कमरे की मैं लाइट जला दी 


सलोनी ने देविका को गले लगाया और पूछा "देविका क्या हुआ , इतना डर क्यों रही हो "

देविका सलोनी के गले से चिपक गयी और कंपते हुए स्वर में बोली "मुझे उससे बचा लो वो मुझे मार डालेगा , मेरी इज्जत ..... "


सलोनी ने देविका को संभाला और फिर कहा "देविका तुम रिलेक्स हो जाओ , तुम्हे हम कुछ नहीं होने देंगे , हम हैं न तुम्हारे साथ "


देविका का डर लगातार बढ़ता जा रहा था , अंकित ने सलोनी से कहा "सलोनी प्लीज देविका को कपडे पहना दो , और चेहरा घुमा के खड़ा हो गया "

 सलोनी देविका को समझती हुए उसे कपड़े पहनने को देने लगी , और देविका को कपड़े पहनने में मदद की |

सलोनी ने टेबल पर रखे मग से पानी ग्लास में डाला और देविका को पीने के लिए दिया , देविका पानी पी रही थी , उसका शरीर अभी भी थर थर कांप रहा था |

सलोनी ने देविका को बेड पर बिठाया और खुद उसके पास बैठ के उसे पूछा "आखिर ऐसा क्या हो गया जो तुम इतना डर रही हो "

देविका ने सामने की और इसरा करते हुए कहा "वो देखो मुझे मार डालेगा "

सलोनी ने तुरंत पीछे मुड़ के देखा लेकिन पीछे कुछ नहीं था , सलोनी ने कहा "कुछ भी तो नहीं है पीछे "

अब देविका इधर उधर देखने लगी थी , लेकिन कुछ न दिखने पर थोड़ा शांत सी हो गयी 

लेकिन देविका अभी भी लगातार काँपे जा रही रही थी , उसके मन को डर कुछ ज्यादा ही भयभीत कर रहा था , वो बार बार सामने की और देखती ओर फिर अपनी भाभी के अचल से छुप जाने की कोशिस करती थी , अब सलोनी ने देविका के कपड़े संभाल दिए थे , और उसके बालो को भी सम्भलने लगी थी , अब देविका कुछ रिलैक्स फील कर रही थी |

अब सलोनी ने देविका के बाल ठीक करने के बाद , उससे पूछा अब कैसा लग रहा है  देविका 

देविका ने रॉलेक्स होने का संकेत करते हुए हाँ में सर हिलाया , अब सलोनी और देविका बिस्तर पर काफी देर तक बैठे रहे , कुछ देर बाते करने के बाद , सलोनी ने देविका से अपने रूम में जाने के लिए पूछा तो देविका ने उसे जाने के लिए कहा दिया |

सलोनी ने जाते हुए देविका के रूम का दरवाजा बंद करते हुए कहा "हम पास बाले कमरे में ही है , अगर कोई प्रॉब्लम हो तो अबाज देना हम आजाएगे "

देविका ने फिर से हाँ में सर हिलाया और चादर ओढ़ के बैठी रही |

जब सलोनी अपने रूम में पहुंची तो देखा , अंकित अभी भी जाग रहा था और उसका वेट कर रहा था , अरे आ गयी तुम , देविका को अकेला छोड़ दिया ??

सलोनी ने कहा "हाँ और वो अब रिलेक्स है , "

"आखिर हुआ क्या था जो इतनी तेज चीखी " अंकित ने चिंता जताते हुए पूछा 

सलोनी ने कहा "अरे यार आज नयी जगह आई है , और देख लिया होगा कोई डरावना सपना इसलिए डर गयी "

अंकित ने थोड़ी देर छुप रहने के बाद कहा "डर तो कभी कभी मैं भी जाता हूँ "

अब सलोनी ने अपने आप को अंकित के पास लाते हुए कहा "क्यों डरा रहे हो मुझे " 

अंकित ने फिर से सामने देखते हुए कहा "सच कह रहा हूँ "

सलोनी ने फिर से कहा "अंकित प्लीज , मत डराओ मुझे "

अंकित ने कहा "जब कभी तुम ऑफिस से लेट आती हो और मैं जल्दी आ जाता हूँ तो मैं कुछ अजीव अजीव सा फील करता हूँ "

सलोनी ने डरते हुए पूछा "कैसा "

"जैसे कोई मेरा गला दवा रहा हो और मुझे फाॅर्स करके बैंड करने की कोशिश करता हो और अजीव से लगता है जैसे मेरी कोई शर्ट और पेण्ट उतार रहा हो "

सलोनी ने फिर से धीरे से पूछा "शर्ट और पेन्ट कुछ समझ नहीं आया "

"हाँ समझ तो मेरी भी कुछ नहीं आया , इसिलए कुछ अजीव होने की बजह से मेने किसी को कुछ बताया भी नहीं "

अब सलोनी को डर लगने लगा था , क्या है ये सब , अंकित क्यों बता रहा है ,

Also Read : How to lose weight quickly

अंकित की आंख लगने ही बाली थी की सलोनी अंकित के सीने से लग कर बोली "तुम मजाक कर रहे हो न ??" 

"उम् क्या हुआ , सो जाओ , सुबह ऑफिस भी जाना है यार " अंकित ने नींद में ही कहा 

अब सलोनी ने भी चादर ओढ़ ली और लेट गयी .. लेकिन उसे अब नींद नहीं आ रही थी ...

फिर उसने अपना फ़ोन उठाया और यूट्यूब ओपन करके विडिओ देखने लगी ..

अचानक उसकी आंखे तब बड़ी बड़ी होने लगी जब उसने एक वीडियो में सेम तो सेम वैसा ही देखा जैसा की आज उसके घर पर हुआ ... पहले एक लड़की डर जाती है फिर उसकी भाभी उसे सांत्वना देने जाती है उसे उसे कमरे में सुलाने के बाद अपने पति के साथ कमरे में आती है उसका पति भी बहुत डरा हुआ बैठा मिलता हाउ , उसके पूछने पर वही बात बताता जो उसके हस्बैंड अंकित ने उसे बताया |

Story in hindi best:

उसने अपना फ़ोन तुरंत बंद कर दिया और टेबल पर रखा पानी ग्लास में लिया और पीने लगी उसे पानी में अजीव सी बदबू लगी , उसने देखा की वो पानी नहीं खून पी रही है उसके होठ पूरी तरह से लाल खून से शन चुके है ये दृश्य उसने अपने बेड के सामने रखे लाल रंग के ड्रेसिंग टेबल के शीशे में देखा  ...

उसने तुरंत ग्लास फेका कर जोर से चीखने लगी ... लेकिन ये क्या उसकी तो अबाज ही नहीं निकल रही है ...

उसे फील हो रहा था की उसका कोई गला दवा रहा है ... और वो उससे छूटने की कोशिश कर रही है ...

लद्ध .. कुछ गिराने की आवाज आती है , आह कहते हुए अंकित ने अपनी कमर पकड़ी और गुस्से से तेज आवाज में बोला "सलोनी , आर यू क्रेजी , मुझे बेड क्यों धक्का दिया "

पसीने में लथपथ बैठी सलोनी को अभी भी कुछ समझ नहीं आरहा था की वो हकीकत में था या वो सपना देख रही थी ...

अंकित खड़ा उसे संभालने की कोशिश में था ... सलोनी का बदन कांप रहा था ||


ये भी पढ़े : किश्मत कनेक्शन 

Story to be continue.....



Post a Comment

0 Comments