Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मनचले | Moral Story For Students| Motivational Story| Suvichar Story Hindi

 

मनचले | Moral Story For Students| Motivational Story|Suvichar Story Hindi

Motivational Story for students
Moral Story 

Suvichar Story Hindi

कुछ दिन पहले की बात है , एक सुन्दर सी लड़की जो की शादीशुदा थी , अपनी बेटी की जिद करने पर उसे चिड़ियाघर घुमाने ले गयी | कदकाठी से काफी आकर्षक दिखने बाली वो युवती भले ही सावली थी पर उसके चेहरे का नूर हर किसी को अपनी ओर एक नजर देखने को मजबूर कर ही देता था | काले घने लम्बे बाल जो की उसकी कमर तक जाते थे , उसके सौंदर्य में निखार लाने का काम कर रहे थे | 

उसके साथ में उसकी छोटी बेटी थी , जो की उसकी ऊगली पकड़ के बारी बारी से अलग अलग जनबरो को उनके बाड़े के आगे जा कर देख रही थी और कभी हस्ती , कभी मुस्कराती , कभी अपनी माँ की ओर देखती खेल रही थी | वही चिड़ियाघर में एक आवारा और मनचले लडको का झुण्ड भी था , जो उस लड़की को देखते ही उसके सौंदर्य पर लार ताकपकाने लगे थे | उनमे आपस में ही होड़ लग गयी , वे एक दूसरे से कहने लगे " वो देख तेरी भाभी आ रही है " 

तभी दूसरा लड़का पहले बाले से कहता है " चल पगले भाभी तो तेरी है , मेरी तो जानेमन है " ऐसे भद्दे और अश्लील कमेंट्स करते हुए वे लड़के उस लड़की के आगे पीछे घूमने लगते है |

लेकिन वो लड़की उन बेशर्म लड़को को इग्नोर करते हुए अपनी बेटी के साथ मस्ती करते हुए आगे बढ़ती जा रही थी | 

अपने प्रति कोई भी प्रतिक्रिया न देखकर वे लडके अब और भी ज्यादा जोर शोर के साथ उसका पीछा करने लगते है | एक लड़का जो सबसे ज्यादा जोश में था आगे जा कर शेर के बाड़े बाले पिजरे की छत पर कूद कर बैठ जाता है और गाना गाने लगता है " तेरा ध्यान किधर है , तेरा हीरो इधर है " उसकी ओर कुछ इशारे भी करने लगता है ।

लड़की को अभी भी उसका गाना तनिक भी विचलित नहीं कर रहा था , ऐसा लग रहा था मानो उसे कोई फर्क ही नहीं की ये क्या कह रहे है || वो तो बस अपनी बेटी के साथ मस्ती करने में मस्त थी | 

लड़की का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के चलते जो उछल कूद कर रहा था वो गलती से शेर के बाड़े में अंदर जा गिरा !! अचानक से ये क्या हुआ उसे खुद कुछ समझ नहीं आया , लेकिन जब उसे होश आया की वो शेर के बाड़े में गिर चुका है , उसके पैरो तले जमीन खिसक गयी !! उसका गाला सूखने लगा , वो चिल्लाना चाह रहा था लेकिन उसकी आवाज उसके गले में ही डाब के रह जा रही थी | बहुत कोशिश करने के बाद वो अपने दोस्तों से मदद के लिए गुहार लगाने लगा " भाई प्लीज मुझे बचा लो दोस्त !! "

लेकिन कोई भी उसकी मदद करने के लिए आगे नहीं आ रहा था || दूसरी ओर जैसे ही शेर ने देखा कोई उसके बाड़े में आ गया है , शेर धीरे धीरे दबे पैर आगे बढ़ने लगता है | शेर के चेहरे और उसकी आँखों का खौप देखते ही लड़के का हाल बेहाल हो गया था !! उसे तो लगा था शायद ये उसकी जिंदगी का आखिरी दिन होगा |

बाड़े के बाहर बहुत से लोगो की भीड़ इकट्ठी हो जाती है , और सब लोग उसे बाहर आने के लिए चिल्लाते है लेकिन आगे बढ़ के कोई भी उसे बचाने के लिए नहीं आता है ! शेर आगे बढ़ रहा था ... तभी भीड़ में से आगे आते हुए उस लड़की ने अपनी शादी का एक किनारा जल्दी से बाड़े में फेका और चिल्ला कर कहा " जल्दी से पकड़ो "

लकड़ी ने अपनी पूरी साडी उतार दी और बाकी लोगो की मदद से एक छोर पकड़े रही , दूसरे छोर को पकड़ के वो लड़का किसी तरह से अपनी जान बचने में कामयाब हो गया || 

जैसे ही वो बाड़े की दीवार कूद के बाहर आया , वहां पर मौजूद सिक्युरिटी गार्ड ने गरजते हुए कहा " तुम्हे होश भी था की तुम क्या कर रहे थे इस खूंखार शेर के बाड़े के पास , अगर ये बहन तुम्हारी मदद करने के लिए आगे न आयी होती तो तुम अब तक इस शिकारी शेर के पेट में चले गए होते "

सिक्योरिटी गार्ड की बात सुन कर उसने एक नजर अर्धनग्न ब्लाउज और पेटीकोट में खडी लड़की की ओर की !! वो मन में सोचने लगा " ये सिक्योरिटी गार्ड सही ही तो कह रहा है , ये मेरी बड़ी बहन जैसी ही तो है , बल्कि उससे भी ज्यादा है , एक बहन ही तो है जिसने अपने भाई की जान बचाने के लिए अपनी इज्जत की परवाह किये बिना अपनी देह से साड़ी उतार कर मेरी रक्षा की "

लड़के ने हाथ जोड़े और उस लड़की के पैरो में गिरते हुए माफ़ी मांगने लगा " बहन मुझे माफ़ कर दो , मैं कुछ देर के लिए भावनाओ में बह गया था और अपनी मर्यादा को भूल गया था , मुझे माफ़ कर दो , आपने अपनी इज्जत की परवाह किये बगैर मेरी जान बचाने के लिए अपनी साड़ी तक उतार दी , आगे से मैं किसी भी महिला को अपनी माँ और बहन की नजर से ही देखूगा !!

उस लड़की ने आपने पैरो में पड़े लडके को पकड़ के उठाया और मुस्कराते हुए कहा " भाई , किसी भी स्त्री की इज्जत उसके बदन पर लिपटे चंद बस्त्रो में नहीं होती और न ही उसके किसी विशेष अंगों में होती है , ये हम इंसानो की मानसिक विकृति है जो उसे जबरन इज्जत के साथ जोड़ के देखते है , जबकि सच्चाई तो ये है की स्त्री इज्जत तो उसके आचरण , उसके चरित्र से जुडी होती है !! "

उस सुन्दर सी दिखने बाली लड़की के आकर्षक मुख से इतनी मर्यादित और भावपूर्ण शब्द सुनकर वहां मौजूद भीड़ तालियां बजा उठी !! 

मोरल ऑफ़ द स्टोरी -- हमें स्त्रियों , महिलाओ का सम्मान करना चाहिए न की उन्हें किसी ऑब्जेक्ट की तरह ट्रीट करना चाहिए |

यह भी पढ़े: कैसा रहा 2023 में बॉलीवुड का सफर

यह भी पढ़े: Latest Bollywood Movie Review In Hindi 




Post a Comment

0 Comments