Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Hindi Kahaniya | Story in Hindi love : romantic story of love - Arrange Marriage Part - 80

Hindi Kahaniya | Story in Hindi love : romantic story of love - Arrange Marriage Part - 80


इस कहानी को यूट्यूब पर देखने के लिए इस लिंक पर जाये ...

नीलू हसे जा रही थी , कार्तिक को थोड़ा अजीब सा लग रहा था , फिर कार्तिक ने पूछा "क्यों , क्यों हसे जा रही हो , बाकी लोग सो रहे है , कोई जाग जायेगा "


नीलू ने किसी तरह से अपनी हसी पर काबू किया और बोली "तुम न बिलकुल बच्चों की तरह बात करते हो , अकेले मैं ही नींद आती है "


कार्तिक ने कहा "हाँ तो क्या हुआ , बहुत से लोगो को ऐसी ही प्रॉब्लम होती है , नहीं आती नींद तो क्या हुआ "

नीलू "अच्छा तो इसका मतलब शादी के बाद तुम मुझे , मेरा मतलब अपनी वाइफ को अपने साथ नहीं सोने दोंगे "


नीलू के प्रश्न ने कार्तिक के लिए एक क्रिटिकल सिचुएशन क्रिएट कर दी थी , अब वो स्पीचलेस हो गया 

आखिर अब क्या ही बोले , वाइफ को साथ नहीं सोने देगा , तो फिर शादी का क्या मतलब रह जायेगा ||


अभी कार्तिक कुछ सोच ही रहा था की नीलू ने बेबाकी से कहा "सोचो सोचो सुहागरात कैसे मानोगे , और जोर से हसने लगी " 


कार्तिक ने नीलू को घूरना चालू किया और फिर बोला "शायद आपको पता ही होगा की सुहाग रात मनाने के लिए सोने की जरूरत नहीं होती , बल्कि जागने की होती है "


अब नीलू की हसी गायब थी , उसे कार्तिक की ओर से इस तरह के casual answer की एक्सपेक्टेशन नहीं थी |

अब नीलू ने अपनी नजरे चुराते हुए कहा "इसका मतलब आपकी वाइफ आपके लिए शादी के बाद भी एक लगेज ही रहेगी "

कार्तिक थोड़ा नीलू के पास खिसकते हुए बोला "मतलब "

नीलू ने सीरियस अबाज में कहा "मतलब यही की केबल अपनी शारीरिक भूख  मिटाने के बाद तुम अलग और वो अलग "


कार्तिक समझ गया था की उसने जो कहा है उसे नहीं कहना चाहिए था , इससे किसी को भी बुरा लग सकता है | फिर उसने बात को संभाला और मुस्कराते हुए कहा "मेडम मैंने ये कब कहा की अपना काम निकालो और अलग हो जाओ .. ये अपने खुद assume कर लिया है " 


नीलू ने अब कुछ नहीं कहा और इधर उधर देखने लगी .. उसे लगा शायद वो लड़की भी जाग रही है और उनकी बाते सुन रही है |


कार्तिक ने नीलू का हाथ पकड़ा और कहा "तुम कुछ ज्यादा ही ओवर थिंकिंग करती हो "

नीलू का हाथ कार्तिक ने पकड़ा इस पर उसे कोई आपत्ति नहीं थी लेकिन , कार्तिक की बाकी बाते उसे हमेशा हर्ट कर देती थी | 


नीलू ने कुछ सोच कर कहा "कार्तिक क्या तुम्हे नहीं लगता की तुम मुझे ले कर अभी भी casual हो , तुम ने अभी भी हमे लेकर कुछ भी पॉजिटिव नहीं सोचा है "


कार्तिक अभी भी नीलू का हाथ पकड़े था , नीलू की बात सुन कर उसने कहा "नहीं नीलू ऐसी बात नहीं है , मैं थोड़ा चीजों को लेकर परेशान हूँ , इसलिए तुम्हे ऐसा लग रहा है "


नीलू ने पूछा "क्या सच में नायरा के साथ तुम्हारा कुछ भी चक्कर नहीं है "

कार्तिक ने कहा "यार अब हमारे बीच ये ऑफिस और ऑफिस के चोचले क्यों ला रही हो "

नीलू "कार्तिक मैं सच पूछ रही हूँ "

कार्तिक ने कहा "ऐसा कुछ नहीं है , हम बस दोस्त है , हाँ अगर उसके दिल में कुछ है तो मैं बता नहीं सकता "

नीलू ने कार्तिक से कहा "कार्तिक मैं जान रही हूँ की तुम , सच नहीं बोल रहे हो , लेकिन मैं भगवन से यही प्रार्थना करती हूँ की तुम जो कह रहे हो वो सच हो "

कार्तिक अभी नजरे चुरा रहा था , सोच रहा था की कहाँ से कहाँ , कुछ भी पूछ रही है ये तो ....


दोनों को बाते करते करते सुबह के चार बज चुके थे , अब लगभग और भी लोग जगने लगे थे , चाय बाले भी फेरी लगाने लगे थे |

कार्तिक ने नीलू को चाय के लिए पूछा तो , नीलू ने बस ये पूछा की हम कहाँ आ गए है और कब तक पहुचेगे 

कार्तिक ने पता किया तो पता चल की वो लोग सुबह के 7 बजे तक पहुंच जायेगे ||


ओह्हो , अभी भी ३ घंटे और लगेंगे , परेशान हो रही हो मैं तो ..

नीलू की बात सुन कर कार्तिक ने कहा , देखो वो सामने बाली भी जग रही है , उससे बात करके टाइम पास करलो |


नीलू ने कार्तिक की ओर भूखी शेरनी की तरह देखते हुए कहा "तुम बड़ा पता है , वो जग रही है या सो रही है "

कार्तिक ने अपने होठो पर मुस्कान लाते हुए कहा "यार , देखो लो न इधर ही तो बार बार घर रही है वो " 


"घूरने दो उसे , लेकिन तुम नहीं देखोगे उधर " नीलू ने वार्निग दी 

"ओके बाबा " कार्तिक ने अपना फ़ोन निकलते हुए कहा 


नीलू वाशरूम की ओर चली गयी , कुछ देर बाद जब बापस आयी उसने देखा , सामने बाली लड़की कार्तिक के पास बैठी हुई है , और फ़ोन में कार्तिक के साथ कुछ देख कर मुस्करा रही है , 

नीलू ने अपने कदम रोक दिए और नजारा देखने लगी ||

कार्तिक भी उससे कुछ बोल रहा था , लगभग एक मिंट खड़े हो कर देखने के बाद 

नीलू अपनी शीट के पास आ कर खड़ी हो गयी , लेकिन दोनों का ध्यान भांग नहीं हुआ था 

फिर नीलू ने उस लड़की का ध्यान आकर्षित करने के लिए थोड़ा जोर खाँसना शुरू किया |

नीलू की khansi की आवाज सुन कर उसने देखा की नीलू खड़ी है ,

वो लड़की खड़े होते हुए बोली "ओह सॉरी , आप बैठिये , ये आपकी शीट है "

नीलू उसे ऐसे घूर रही थी जैसे वो उसकी किडनी ही नक़ल के मानेगी ,,

नीलू ने उसे सड़ा सा फेस बनाते हुए सड़ी सी स्माइल पास करते हुए बोली "थैंक यू "


नीलू की हरकत देख कर कार्तिक सतर्क हो गया था , अब उसे समझ आ गया था की नीलू फिर से तमतमा उठी है |

उसने कुछ न कहते हुए उस लड़की का फ़ोन उसे पकड़ते हुए कहा "आप कस्टमर केयर पर कॉल कर लीजिये , मुझे लग रहा है इसमें वो ही हेल्प कर पाएंगे "

और नीलू की ओर देख कर कहने लगा "अरे इनके फ़ोन में न सिग्नल fluctuation हो रहा है "

नीलू उसे ही देख रही थी , कार्तिक की बात सुन कर बोली "हाँ तुमने तो सिग्नल ठीक करनी की डिग्री ले रही है न , कर दो ठीक "

अब वे दोनों लड़की और साथ में कार्तिक सभी नीलू को ही देखने लगे ...

एक साथ तीनो नीलू को देख रहे है , इसलिए नीलू थोड़ा नरम होते हुए बोली "मेरा मतलब तुम्हे तो आता है न ठीक करना , तुमने नायरा का फ़ोन ठीक किया था न " और उन दोनों लड़कियों की ओर देखने लगी ...

कार्तिक को गुस्सा आ रहा था या फिर शर्म पता नहीं पर उसका फेस लाल हो चुका था ||



इस कहानी को यूट्यूब पर देखने के लिए इस लिंक पर जाये ...

Post a Comment

0 Comments